दिल्ली सरकार ने सिक्किम को बताया अलग देश, सिक्किम ने जताया विरोध !

दिल्ली सरकार ने एक विज्ञापन जारी करते हुए भारत के अभिन्न अंग सिक्किम को अलग देश बताया है जिससे दिल्ली सरकार विवादों में फस गए ! आपको बता दे की ये विज्ञापन सिविल डिफेंस कोर वालेंटियर यानी स्वयंसेवक के रूप में भर्ती होने वाली , भर्ती की विज्ञापन थी ! इस विज्ञापन में बताया गया की

techyindia

  1.  भारत का नागरिक हो या भूटान नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली की निवासी हो !
  2.  18 साल की आयु हो !
  3.  काम से काम परात्मिक शिक्षा प्राप्त हो
  4.  कोई भी पुरुष या महिला जो शारीरिक रूप से स्वस्थ हो ! तथा मानसिक रूप से सचेत हो !

सिक्किम ने इसपर जताई नाराजगी !

इसपर सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने दिल्ली के मुख्य सचिव को पत्र बेजा जिसमे उन्होंने लिखा की हाल ही में एक न्यूजपेपर में दिल्ली सरकार ने एक  सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती होने के लिए विज्ञापन निकाला है. इस विज्ञापन में सिक्किम को भूटान और नेपाल के जैसा  एक स्वतंत्र देश के रूप में रखा गया है. ये बहोत ही निंदनीय है सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है ! कृपया दिल्ली सरकार इस विज्ञापन को वापस ले !

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी जी ने साधा निशाना !

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी जी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा की केजरीवाल जी सिक्किम को अलग देश दिखा रहे है ! एक प्रदेश के सरकार ऐसा कैसेकर सकते है ! क्या वो इतने अनाड़ी और अज्ञानी हो सकते है ! की पुरे भारत के एक राज्य को स्वतंत्र देश दिखा दे !

इसके बाद दिल्ली एलजी अनिल बैजल जी ने संज्ञान लेते हुए नागरिक सुरक्षा निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी को एक  विज्ञापन प्रकाशित करने के लिए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है, जो कुछ पड़ोसी देशों के समान सिक्किम पर गलत संदर्भ देकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करता है।

इसके बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल जी ने ट्वीट करते हुए कहा की सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है। ऐसी गलती  बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। विज्ञापन वापस ले लिया गया है और संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

 

Please follow and like us:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *