राम मंदिर पर अब नया सियासत , पीएम मोदी जी के भूमि पूजन में जाने का ओवैसी ने जताया विरोध !

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर पर राजनीती ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है , जैसा की आप लोगो को पता होगा की 5 अगस्त को श्री राम मंदिर निर्माण के लिए , भव्य भूमि पूजन का आयोजन किया गया है , और देश के कोने कोने से श्री राम जी से जुड़े मिट्टी लायी जा रही है !

इन सब के बिच राजनीती में श्री राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर काफी ज्यादा बवाल हो रहा है ! आपको बता दे कीओवैसी से पहले। भूमि पूजन के मुहूर्त पर बवाल हुआ ! उसके बाद अखाड़े को राम मंदिर ट्रस्ट में भागीदारी नहीं दिए जाने को लेकर पीएमओ को खत लिखकर अदालत जाने की धमकी दी गयी।

अब ओवैसी ने पीएम मोदी जी को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन में शामिल होने पर सवाल उठाते हुए कहा है की।  ये आधिकारिक तौर पर भूमि पूजन में शामिल होने पर संवैधानिक सपथ का उलंघन होगा।  ओवैसी ने आगे कहा की धर्मनिरपेक्षता संविधान की मूल संरचना का हिस्सा है। और देश के सरकर और प्रधान मंत्री का कोई धर्म नहीं हो सकता  हम यह नहीं भूल सकते कि बाबरी 400 साल से अधिक समय तक अयोध्या में रहे और 1992 में आपराधिक भीड़ द्वारा इसे ध्वस्त कर दिया गया। और आगे उन्होंने ये भी कहा की हम अपनी वसीहत में ये लिख कर जायेंगे और अपने आने वाली पीढ़ियों को कह कर जाऊंगा की वहा पर बाबरी मस्जिद थी है और रहेगी !

जैसा की आप सब जानते है की 5 अगस्त को श्री राम जन्मभूमि का भूमि पूजन का कार्यक्रम है। और 5 अगस्त को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी इसमें सामील होंगे इसमें सामील होने वालो का लिस्ट भी जारी कर दिया गया है जिसमे श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने  इस अवसर पर लाल कृष्ण आडवाणी, उमा भारती, कल्याण सिंह, विनय कटियार और मुरली मनोहर जोशी सहित इस फाइनल लिस्ट में 200 लोगो की सूची भेजी गयी है !

आपको बता दे की भूमि पूजन के लिए 22 किलो 600 ग्राम का चांदी की ईंट तैयार की गयी है। और जिसे रखकर पीएम मोदी जी श्री राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे !

Please follow and like us:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *