निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर अभियान का तीसरा ब्लूप्रिंट किया जारी जाने किसे क्या मिलेगा !

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आत्मनिर्भर अभियान के तहत 20 लाख करोड़ का रहत पैकेज का एलान किया था जिसका आज निर्मला सीतारमण जी ने आज तीसरा क़िस्त जारी किया है, इससे पहले दो क़िस्त का एलान हो चूका है जिसमे पहले क़िस्त में 3 लाख करोड़ का राहत पैकेज का एलान किया था और ये राहत पैकेज MSME माइक्रो स्मॉल एंड मध्यम इंटरप्राइजेज के लिए किया गया था जिसमे में 45 लाख MSME को डायरेक्ट फ़ायदा होगा ! जिसमे 1  साल तक ब्याज में छूट की भी बात कही गयी है !

 

तो वही दूसरे क़िस्त में प्रवासी मजदुर , किसान , रेडी पटरी वाले को 5 -5 हज़ार की सहायता ,मीडियम वर्ग को हाऊसिंग लोन में सब्सिडी , और  कैम्पा फण्ड के जरिये पौधा रोपण और हरयाली को बढ़ावा दिए जाने की घोसना की गयी थी !

और इसके बाद आज तीसरे क़िस्त की 11 घोसना की जिसमे 8 घोसना घोसना किसानो और खेती से जुडी है वित् मंत्री सीतारमण जी ने एलन किया की कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये दिए जायेंगे !

 

माइक्रो फ़ूड सेक्टर के लिए 10 हज़ार करोड़ रुपये का फण्ड दिया जायेगा, जिससे लगभग 2 लाख सूक्षम खाद्य संस्करण इकाइयों को इससे लाभ मिलेगा !

मछुवारो के लिए 20  हज़ार करोड़ का फण्ड दिया जायेगा !

पशुपालन के लिए 15 हज़ार करोड़ का फण्ड दिया जायेगा !

हर्बल खेती को बढ़ावा देने के लिए 4 हज़ार करोड़ का फण्ड दिया जायेगा !

 

इसपर पीएम नरेंद्र मोदी जी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की !

मैं वित् मंत्री  निर्मला सीतारमण जी  द्वारा किये गए  उपायों का स्वागत करता हूं !

ये  ग्रामीण अर्थव्यवस्था, हमारे मेहनती किसानों, मछुआरों, पशुपालन और डेयरी क्षेत्रों में मदद करेंगे। मैं कृषि में सुधार की पहल का विशेष रूप से स्वागत करता हूं, जिससे किसानों की आय बढ़ेगी !

इसके अलावा सरकार ने अनाज , खाद्य, दाल  तेल आलू जैसी फसलों को कानून के दायरे से बहार निकलने का कदम उठाया है इसके लिए सन 1955 के जरुरी कमोडिटी कानून में बदलाव किया जायेगा जिससे किसानो को आवश्यक वास्तु के ज्यादा दाम मिलेंगे और किसान अपनी कुछ सामान विदेशी बाजारों में भी बेच सकेंगे !

Please follow and like us:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *