कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चौहान ने कोरोना से लड़ाई के लिए मंदिर से सोना उधार लेने की सलाह दी इसपे संत समाज भड़के !

आपको पता होगा की तमिलनाडु सरकार ने राज्य के 47 मंदिरो को  आदेश जारी करते हुए मंदिरो को 10 करोड़ रुपये देने का आदेश दिया था और उन पैसो से मस्जिद को रमजान में 5450 टन फ्री चावल 2894  मस्जिदों को दान करने का आदेश दिया था जबकि ज्यादातर मंदिरो ने कोरोना पेंडेमिक में अपने अपने छमता के अनुसार पीएम केयर्स फण्ड में भी दान किया था

 

और अब इसके बाद कांग्रेस के नेता पृथ्वीराज चौहान ने एक बयान देते हुए कहा की हिन्दू धार्मिक ट्रस्टों का सोना  कोरोना से निपटने के लिए इस्तेमाल किया जाये इसपे संत समाज भड़क उठे पृथ्वीराज चौहान ने कहा की देश के धार्मिक ट्रस्टो मंदिरो में सोना पड़ा हुआ है इस सोना को सरकार को ब्याज पर ले लेना चाहिए एक दो फीसदी ब्याज की दर पर मंदिरो और ट्रस्टों से ये सोना ले लिया जाना चाहिए वर्ल्ड गोल्ड काउन्सिल के मुताबिक देश

के अलग अलग धार्मिक ट्रस्टों के पास 75 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का सोना है ये सोना राष्ट्र की सम्पति है पृथ्वी राज चौहान के इस बयान के बाद संत समाज भड़क उठे इस्पे संतो ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सुमेरु पीठ  के शंकराचार्य नरेंद्रानंद सरस्वती ने कहा की सबसे पहले कांग्रेस के नेता की सम्पति का राष्ट्रीय करन होना चाहिए उन्होंने कहा की 5 लाख से ज्यादा जिसकी सम्पति है सबका राष्ट्रीय करन होना चाहिए और इन सब नेताओ का नार्को टेस्ट कराना चाहिए मंदिरो की सम्पति मंदिरो की है और मंदिरो का ही रहना चाहिए!

 

संत समझ का कहना है की मंदिरो की सम्पति पर कांग्रेस की नजर हमेसा से रही है संतो ने कहा की हिन्दू मंदिरो का सोना हिन्दू समाज की सम्पति है ना की सरकार की सम्पति है और अगर मंदिरो का सोना गिरवी रख कर सरकार चलनी है तो सरकार मंदिरो के हवाले कर दीजिये !

भारतीय जनता पार्टी ने भी इस्पे सवाल उठाये है बीजेपी के नेता प्रेम शुक्ला जी ने कहा की अवकाफ (awqaf ) के पास बहोत साडी सम्पतिया है उन सम्पतियो को प्लेज करने की मांग कर दीजिये अभी इनकी जुबान बंद हो जाएगी उन्होंने कहा की इनकी इस तरह की हिन्दू उत्पीड़क नीतियों की बिलकुल आवस्यकता नहीं है !

Please follow and like us:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *